بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
54097034والذين هم على صلاتهم يحافظون
और जो लोग अपनी नमाज़ो का ख्याल रखते हैं
54107035أولئك في جنات مكرمون
यही लोग बेहिश्त के बाग़ों में इज्ज़त से रहेंगे
54117036فمال الذين كفروا قبلك مهطعين
तो (ऐ रसूल) काफिरों को क्या हो गया है
54127037عن اليمين وعن الشمال عزين
कि तुम्हारे पास गिरोह गिरोह दाहिने से बाएँ से दौड़े चले आ रहे हैं
54137038أيطمع كل امرئ منهم أن يدخل جنة نعيم
क्या इनमें से हर शख़्श इस का मुतमइनी है कि चैन के बाग़ (बेहिश्त) में दाख़िल होगा
54147039كلا إنا خلقناهم مما يعلمون
हरगिज़ नहीं हमने उनको जिस (गन्दी) चीज़ से पैदा किया ये लोग जानते हैं
54157040فلا أقسم برب المشارق والمغارب إنا لقادرون
तो मैं मशरिकों और मग़रिबों के परवरदिगार की क़सम खाता हूँ कि हम ज़रूर इस बात की कुदरत रखते हैं
54167041على أن نبدل خيرا منهم وما نحن بمسبوقين
कि उनके बदले उनसे बेहतर लोग ला (बसाएँ) और हम आजिज़ नहीं हैं
54177042فذرهم يخوضوا ويلعبوا حتى يلاقوا يومهم الذي يوعدون
तो तुम उनको छोड़ दो कि बातिल में पड़े खेलते रहें यहाँ तक कि जिस दिन का उनसे वायदा किया जाता है उनके सामने आ मौजूद हो
54187043يوم يخرجون من الأجداث سراعا كأنهم إلى نصب يوفضون
उसी दिन ये लोग कब्रों से निकल कर इस तरह दौड़ेंगे गोया वह किसी झन्डे की तरफ दौड़े चले जाते हैं


0 ... 530.8 531.8 532.8 533.8 534.8 535.8 536.8 537.8 538.8 539.8 541.8 542.8 543.8 544.8 545.8 546.8 547.8 548.8 549.8 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

1922256026731481143313574810250761845944