بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
29692637يأتوك بكل سحار عليم
और तमाम शहरों में जादूगरों के जमा करने को हरकारे रवाना कीजिए कि वह लोग तमाम बड़े बड़े खिलाड़ी जादूगरों की आपके सामने ला हाज़िर करें
29702638فجمع السحرة لميقات يوم معلوم
ग़रज़ वक्ते मुकर्रर हुआ सब जादूगर उस मुक़र्रर के वायदे पर जमा किए गए
29712639وقيل للناس هل أنتم مجتمعون
और लोगों में मुनादी करा दी गयी कि तुम लोग अब भी जमा होगे
29722640لعلنا نتبع السحرة إن كانوا هم الغالبين
या नहीं ताकि अगर जादूगर ग़ालिब और वर है तो हम लोग उनकी पैरवी करें
29732641فلما جاء السحرة قالوا لفرعون أئن لنا لأجرا إن كنا نحن الغالبين
अलग़रज जब सब जादूगर आ गये तो जादूगरों ने फिरऔन से कहा कि अगर हम ग़ालिब आ गए तो हमको यक़ीनन कुछ इनाम (सरकार से) मिलेगा
29742642قال نعم وإنكم إذا لمن المقربين
फिरऔन ने कहा हा (ज़रुर मिलेगा) और (इनाम क्या चीज़ है) तुम उस वक्त (मेरे) मुकररेबीन (बारगाह) से हो गए
29752643قال لهم موسى ألقوا ما أنتم ملقون
मूसा ने जादूगरों से कहा (मंत्र व तंत्र) जो कुछ तुम्हें फेंकना हो फेंको
29762644فألقوا حبالهم وعصيهم وقالوا بعزة فرعون إنا لنحن الغالبون
इस पर जादूगरों ने अपनी रस्सियाँ और अपनी छड़ियाँ (मैदान में) डाल दी और कहने लगे फिरऔन के जलाल की क़सम हम ही ज़रुर ग़ालिब रहेंगे
29772645فألقى موسى عصاه فإذا هي تلقف ما يأفكون
तब मूसा ने अपनी छड़ी डाली तो जादूगरों ने जो कुछ (शोबदे) बनाए थे उसको वह निगलने लगी
29782646فألقي السحرة ساجدين
ये देखते ही जादूगर लोग सजदे में (मूसा के सामने) गिर पडे


0 ... 286.8 287.8 288.8 289.8 290.8 291.8 292.8 293.8 294.8 295.8 297.8 298.8 299.8 300.8 301.8 302.8 303.8 304.8 305.8 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.01 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

5872194222664416392829385865397841853955