بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
55397444ولم نك نطعم المسكين
और न मोहताजों को खाना खिलाते थे
55407445وكنا نخوض مع الخائضين
और अहले बातिल के साथ हम भी बड़े काम में घुस पड़ते थे
55417446وكنا نكذب بيوم الدين
और रोज़ जज़ा को झुठलाया करते थे (और यूँ ही रहे)
55427447حتى أتانا اليقين
यहाँ तक कि हमें मौत आ गयी
55437448فما تنفعهم شفاعة الشافعين
तो (उस वक्त) उन्हें सिफ़ारिश करने वालों की सिफ़ारिश कुछ काम न आएगी
55447449فما لهم عن التذكرة معرضين
और उन्हें क्या हो गया है कि नसीहत से मुँह मोड़े हुए हैं
55457450كأنهم حمر مستنفرة
गोया वह वहशी गधे हैं
55467451فرت من قسورة
कि येर से (दुम दबा कर) भागते हैं
55477452بل يريد كل امرئ منهم أن يؤتى صحفا منشرة
असल ये है कि उनमें से हर शख़्श इसका मुतमइनी है कि उसे खुली हुई (आसमानी) किताबें अता की जाएँ
55487453كلا بل لا يخافون الآخرة
ये तो हरगिज़ न होगा बल्कि ये तो आख़ेरत ही से नहीं डरते


0 ... 543.8 544.8 545.8 546.8 547.8 548.8 549.8 550.8 551.8 552.8 554.8 555.8 556.8 557.8 558.8 559.8 560.8 561.8 562.8 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

4550379255741980642451286757853732379