بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
53096838إن لكم فيه لما تخيرون
कि जो चीज़ पसन्द करोगे तुम को वहाँ ज़रूर मिलेगी
53106839أم لكم أيمان علينا بالغة إلى يوم القيامة إن لكم لما تحكمون
या तुमने हमसे क़समें ले रखी हैं जो रोज़े क़यामत तक चली जाएगी कि जो कुछ तुम हुक्म दोगे वही तुम्हारे लिए ज़रूर हाज़िर होगा
53116840سلهم أيهم بذلك زعيم
उनसे पूछो तो कि उनमें इसका कौन ज़िम्मेदार है
53126841أم لهم شركاء فليأتوا بشركائهم إن كانوا صادقين
या (इस बाब में) उनके और लोग भी शरीक हैं तो अगर ये लोग सच्चे हैं तो अपने शरीकों को सामने लाएँ
53136842يوم يكشف عن ساق ويدعون إلى السجود فلا يستطيعون
जिस दिन पिंडली खोल दी जाए और (काफ़िर) लोग सजदे के लिए बुलाए जाएँगे तो (सजदा) न कर सकेंगे
53146843خاشعة أبصارهم ترهقهم ذلة وقد كانوا يدعون إلى السجود وهم سالمون
उनकी ऑंखें झुकी हुई होंगी रूसवाई उन पर छाई होगी और (दुनिया में) ये लोग सजदे के लिए बुलाए जाते और हटटे कटटे तन्दरूस्त थे
53156844فذرني ومن يكذب بهذا الحديث سنستدرجهم من حيث لا يعلمون
तो मुझे उस कलाम के झुठलाने वाले से समझ लेने दो हम उनको आहिस्ता आहिस्ता इस तरह पकड़ लेंगे कि उनको ख़बर भी न होगी
53166845وأملي لهم إن كيدي متين
और मैं उनको मोहलत दिये जाता हूँ बेशक मेरी तदबीर मज़बूत है
53176846أم تسألهم أجرا فهم من مغرم مثقلون
(ऐ रसूल) क्या तुम उनसे (तबलीग़े रिसालत का) कुछ सिला माँगते हो कि उन पर तावान का बोझ पड़ रहा है
53186847أم عندهم الغيب فهم يكتبون
या उनके इस ग़ैब (की ख़बर) है कि ये लोग लिख लिया करते हैं


0 ... 520.8 521.8 522.8 523.8 524.8 525.8 526.8 527.8 528.8 529.8 531.8 532.8 533.8 534.8 535.8 536.8 537.8 538.8 539.8 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

2353325244594948250332105753323821134073