بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
5279688فلا تطع المكذبين
तो तुम झुठलाने वालों का कहना न मानना
5280689ودوا لو تدهن فيدهنون
वह लोग ये चाहते हैं कि अगर तुम नरमी एख्तेयार करो तो वह भी नरम हो जाएँ
52816810ولا تطع كل حلاف مهين
और तुम (कहीं) ऐसे के कहने में न आना जो बहुत क़समें खाता ज़लील औक़ात ऐबजू
52826811هماز مشاء بنميم
जो आला दर्जे का चुग़लख़ोर माल का बहुत बख़ील
52836812مناع للخير معتد أثيم
हद से बढ़ने वाला गुनेहगार तुन्द मिजाज़
52846813عتل بعد ذلك زنيم
और उसके अलावा बदज़ात (हरमज़ादा) भी है
52856814أن كان ذا مال وبنين
चूँकि माल बहुत से बेटे रखता है
52866815إذا تتلى عليه آياتنا قال أساطير الأولين
जब उसके सामने हमारी आयतें पढ़ी जाती हैं तो बोल उठता है कि ये तो अगलों के अफ़साने हैं
52876816سنسمه على الخرطوم
हम अनक़रीब इसकी नाक पर दाग़ लगाएँगे
52886817إنا بلوناهم كما بلونا أصحاب الجنة إذ أقسموا ليصرمنها مصبحين
जिस तरह हमने एक बाग़ वालों का इम्तेहान लिया था उसी तरह उनका इम्तेहान लिया जब उन्होने क़समें खा खाकर कहा कि सुबह होते हम उसका मेवा ज़रूर तोड़ डालेंगे


0 ... 517.8 518.8 519.8 520.8 521.8 522.8 523.8 524.8 525.8 526.8 528.8 529.8 530.8 531.8 532.8 533.8 534.8 535.8 536.8 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

58263987215052752332306473112084143265