بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
309926167قالوا لئن لم تنته يا لوط لتكونن من المخرجين
उन लोगों ने कहा ऐ लूत अगर तुम बाज़ न आओगे तो तुम ज़रुर निकल बाहर कर दिए जाओगे
310026168قال إني لعملكم من القالين
लूत ने कहा मै यक़ीनन तुम्हारी (नाशाइसता) हरकत से बेज़ार हूँ
310126169رب نجني وأهلي مما يعملون
(और दुआ की) परवरदिगार जो कुछ ये लोग करते है उससे मुझे और मेरे लड़कों को नजात दे
310226170فنجيناه وأهله أجمعين
तो हमने उनको और उनके सब लड़कों को नजात दी
310326171إلا عجوزا في الغابرين
मगर (लूत की) बूढ़ी औरत कि वह पीछे रह गयी
310426172ثم دمرنا الآخرين
(और हलाक हो गयी) फिर हमने उन लोगों को हलाक कर डाला
310526173وأمطرنا عليهم مطرا فساء مطر المنذرين
और उन पर हमने (पत्थरों का) मेंह बरसाया तो जिन लोगों को (अज़ाबे ख़ुदा से) डराया गया था
310626174إن في ذلك لآية وما كان أكثرهم مؤمنين
उन पर क्या बड़ी बारिश हुई इस वाक़िये में भी एक बड़ी इबरत है और इनमें से बहुतेरे ईमान लाने वाले ही न थे
310726175وإن ربك لهو العزيز الرحيم
और इसमे तो शक ही नहीं कि तुम्हारा परवरदिगार यक़ीनन सब पर ग़ालिब (और) बड़ा मेहरबान है
310826176كذب أصحاب الأيكة المرسلين
इसी तरह जंगल के रहने वालों ने (मेरे) पैग़म्बरों को झुठलाया


0 ... 299.8 300.8 301.8 302.8 303.8 304.8 305.8 306.8 307.8 308.8 310.8 311.8 312.8 313.8 314.8 315.8 316.8 317.8 318.8 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

2649267558481529572949964420106936574015