بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
49525551فبأي آلاء ربكما تكذبان
अतः तुम दोनों अपने रब की अनुकम्पाओं में से किस-किस को झुठलाओगे?
49535552فيهما من كل فاكهة زوجان
उन दोनों (बाग़ो) मे हर स्वादिष्ट फल की दो-दो किस्में हैं;
49545553فبأي آلاء ربكما تكذبان
अतः तुम दोनो रब के चमत्कारों में से किस-किस को झुठलाओगे?
49555554متكئين على فرش بطائنها من إستبرق وجنى الجنتين دان
वे ऐसे बिछौनो पर तकिया लगाए हुए होंगे जिनके अस्तर गाढे रेशम के होंगे, और दोनों बाग़ो के फल झुके हुए निकट ही होंगे।
49565555فبأي آلاء ربكما تكذبان
अतः तुम अपने रब के चमत्कारों में से किस-किस को झुठलाओगे?
49575556فيهن قاصرات الطرف لم يطمثهن إنس قبلهم ولا جان
उन (अनुकम्पाओं) में निगाह बचाए रखनेवाली (सुन्दर) स्त्रियाँ होंगी, जिन्हें उनसे पहले न किसी मनुष्य ने हाथ लगाया और न किसी जिन्न ने
49585557فبأي آلاء ربكما تكذبان
फिर तुम दोनों अपने रब की अनुकम्पाओं में से किस-किस को झुठलाओगे?
49595558كأنهن الياقوت والمرجان
मानो वे लाल (याकूत) और प्रवाल (मूँगा) है।
49605559فبأي آلاء ربكما تكذبان
अतः तुम दोनों अपने रब की अनुकम्पाओं में से किस-किस को झुठलाओगे?
49615560هل جزاء الإحسان إلا الإحسان
अच्छाई का बदला अच्छाई के सिवा और क्या हो सकता है?


0 ... 485.1 486.1 487.1 488.1 489.1 490.1 491.1 492.1 493.1 494.1 496.1 497.1 498.1 499.1 500.1 501.1 502.1 503.1 504.1 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

1867164538914859649861204187532855272