بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
47035128فأوجس منهم خيفة قالوا لا تخف وبشروه بغلام عليم
फिर उसने दिल में उनसे डर महसूस किया। उन्होंने कहा, "डरिए नहीं।" और उन्होंने उसे एक ज्ञानवान लड़के की मंगल-सूचना दी
47045129فأقبلت امرأته في صرة فصكت وجهها وقالت عجوز عقيم
इसपर उसकी स्त्री (चकित होकर) आगे बढ़ी और उसने अपना मुँह पीट लिया और कहने लगी, "एक बूढ़ी बाँझ (के यहाँ बच्चा पैदा होगा)!"
47055130قالوا كذلك قال ربك إنه هو الحكيم العليم
उन्होंने कहा, "ऐसी ही तेरे रब ने कहा है। निश्चय ही वह बड़ा तत्वदर्शी, ज्ञानवान है।"
47065131قال فما خطبكم أيها المرسلون
उसने कहा, "ऐ (अल्लाह के भेजे हुए) दूतों, तुम्हारे सामने क्या मुहिम है?"
47075132قالوا إنا أرسلنا إلى قوم مجرمين
उन्होंने कहा, "हम एक अपराधी क़ौम की ओर भेजे गए है;
47085133لنرسل عليهم حجارة من طين
"ताकि उनके ऊपर मिट्टी के पत्थर (कंकड़) बरसाएँ,
47095134مسومة عند ربك للمسرفين
जो आपके रब के यहाँ सीमा का अतिक्रमण करनेवालों के लिए चिन्हित है।"
47105135فأخرجنا من كان فيها من المؤمنين
फिर वहाँ जो ईमानवाले थे, उन्हें हमने निकाल लिया;
47115136فما وجدنا فيها غير بيت من المسلمين
किन्तु हमने वहाँ एक घर के अतिरिक्त मुसलमानों (आज्ञाकारियों) का और कोई घर न पाया
47125137وتركنا فيها آية للذين يخافون العذاب الأليم
इसके पश्चात हमने वहाँ उन लोगों के लिए एक निशानी छोड़ दी, जो दुखद यातना से डरते है


0 ... 460.2 461.2 462.2 463.2 464.2 465.2 466.2 467.2 468.2 469.2 471.2 472.2 473.2 474.2 475.2 476.2 477.2 478.2 479.2 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

4353755621530113087470359358512043953