بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
44684454كذلك وزوجناهم بحور عين
ऐसा ही होगा और हम बड़ी बड़ी ऑंखों वाली हूरों से उनके जोड़े लगा देंगे
44694455يدعون فيها بكل فاكهة آمنين
वहाँ इत्मेनान से हर किस्म के मेवे मंगवा कर खायेंगे
44704456لا يذوقون فيها الموت إلا الموتة الأولى ووقاهم عذاب الجحيم
वहाँ पहली दफ़ा की मौत के सिवा उनको मौत की तलख़ी चख़नी ही न पड़ेगी और ख़ुदा उनको दोज़ख़ के अज़ाब से महफूज़ रखेगा
44714457فضلا من ربك ذلك هو الفوز العظيم
(ये) तुम्हारे परवरदिगार का फज़ल है यही तो बड़ी कामयाबी है
44724458فإنما يسرناه بلسانك لعلهم يتذكرون
तो हमने इस क़ुरान को तुम्हारी ज़बान में (इसलिए) आसान कर दिया है ताकि ये लोग नसीहत पकड़ें तो
44734459فارتقب إنهم مرتقبون
(नतीजे के) तुम भी मुन्तज़िर रहो ये लोग भी मुन्तज़िर हैं
4474451بسم الله الرحمن الرحيم حم
हा मीम
4475452تنزيل الكتاب من الله العزيز الحكيم
ये किताब (क़ुरान) ख़ुदा की तरफ से नाज़िल हुईहै जो ग़ालिब और दाना है
4476453إن في السماوات والأرض لآيات للمؤمنين
बेशक आसमान और ज़मीन में ईमान वालों के लिए (क़ुदरते ख़ुदा की) बहुत सी निशानियाँ हैं
4477454وفي خلقكم وما يبث من دابة آيات لقوم يوقنون
और तुम्हारी पैदाइश में (भी) और जिन जानवरों को वह (ज़मीन पर) फैलाता रहता है (उनमें भी) यक़ीन करने वालों के वास्ते बहुत सी निशानियाँ हैं


0 ... 436.7 437.7 438.7 439.7 440.7 441.7 442.7 443.7 444.7 445.7 447.7 448.7 449.7 450.7 451.7 452.7 453.7 454.7 455.7 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

6065196428054061502720133175750794419