بسم الله الرحمن الرحيم

نتائج البحث: 6236
ترتيب الآيةرقم السورةرقم الآيةالاية
37833678وضرب لنا مثلا ونسي خلقه قال من يحيي العظام وهي رميم
और हमारी निसबत बातें बनाने लगा और अपनी ख़िलक़त (की हालत) भूल गया और कहने लगा कि भला जब ये हड्डियां (सड़गल कर) ख़ाक हो जाएँगी तो (फिर) कौन (दोबारा) ज़िन्दा कर सकता है
37843679قل يحييها الذي أنشأها أول مرة وهو بكل خلق عليم
(ऐ रसूल) तुम कह दो कि उसको वही ज़िन्दा करेगा जिसने उनको (जब ये कुछ न थे) पहली बार ज़िन्दा कर (रखा)
37853680الذي جعل لكم من الشجر الأخضر نارا فإذا أنتم منه توقدون
और वह हर तरह की पैदाइश से वाक़िफ है जिसने तुम्हारे वास्ते (मिर्ख़ और अफ़ार के) हरे दरख्त से आग पैदा कर दी फिर तुम उससे (और) आग सुलगा लेते हो
37863681أوليس الذي خلق السماوات والأرض بقادر على أن يخلق مثلهم بلى وهو الخلاق العليم
(भला) जिस (खुदा) ने सारे आसमान और ज़मीन पैदा किए क्या वह इस पर क़ाबू नहीं रखता कि उनके मिस्ल (दोबारा) पैदा कर दे हाँ (ज़रूर क़ाबू रखता है) और वह तो पैदा करने वाला वाक़िफ़कार है
37873682إنما أمره إذا أراد شيئا أن يقول له كن فيكون
उसकी शान तो ये है कि जब किसी चीज़ को (पैदा करना) चाहता है तो वह कह देता है कि ''हो जा'' तो (फौरन) हो जाती है
37883683فسبحان الذي بيده ملكوت كل شيء وإليه ترجعون
तो वह ख़ुद (हर नफ्स से) पाक साफ़ है जिसके क़ब्ज़े कुदरत में हर चीज़ की हिकमत है और तुम लोग उसी की तरफ लौट कर जाओगे
3789371بسم الله الرحمن الرحيم والصافات صفا
(इबादत या जिहाद में) पर बाँधने वालों की (क़सम)
3790372فالزاجرات زجرا
फिर (बदों को बुराई से) झिड़क कर डाँटने वाले की (क़सम)
3791373فالتاليات ذكرا
फिर कुरान पढ़ने वालों की क़सम है
3792374إن إلهكم لواحد
तुम्हारा माबूद (यक़ीनी) एक ही है


0 ... 368.2 369.2 370.2 371.2 372.2 373.2 374.2 375.2 376.2 377.2 379.2 380.2 381.2 382.2 383.2 384.2 385.2 386.2 387.2 ... 623

إنتاج هذه المادة أخد: 0.02 ثانية


المغرب.كووم © ٢٠٠٩ - ١٤٣٠ © الحـمـد لله الـذي سـخـر لـنا هـذا :: وقف لله تعالى وصدقة جارية

30814253279619812322835770375155023406